प्रयागराज के करछना में सिक्योरिटी गार्ड ने दो भतीजों को मारी गोली, एक की मौत, दूसरा गंभीर

प्रयागराज के करछना थाना क्षेत्र के सेमरी गांव में दो सगे भाईयों के जमीन विवाद में चली गोली में दो की हालत गंभीर एस आर एन में कराया गया भर्ती.


आप को बता दे सेमरी गांव निवासी दिनेश शुक्ला वह नीलू शुक्ला दो सगे भाई हैं। दोनों भाइयों में जमीन वह रास्ते को लेकर विवाद चला रहा था।

जिसमें आज सोमवार सुबह 6:00 बजे एक लड़का उक्त विवादित मार्ग पर पेशाब करने करनें को लेकर विवाद की वजह बताई जा रही है इसी बात को लेकर दोनों भाइयों में विवाद उत्पन्न हो गया.

देखते देखते लाठी डंडे और बंदूक निकाल दिए जिसमें नील कमल शुक्ला उर्फ नीलू शुक्ला के नाम लाइसेंसी बंदूक से अपने भतीजे दिनेश शुक्ला के लड़के दीपक शुक्ला व वैभव शुक्ला के ऊपर फायर झोंक दिया .

जिससे दोनों जमीन पर गिर पड़े अफरातफरी के माहौल में गांव वाले एकत्रित हुए पुलिस को सूचना दी गई खबर पाकर करछना थाने की पुलिस भी पहुंची।

Also Read

BSNL के 200 रुपये से कम कीमत वाले रिचार्ज प्लान, 2GB डेली डेटा, अनलिमिटेड वॉयस कॉल


करछना इंस्पेक्टर टीका राम वर्मा ने आरोपी नीलकमल शुक्ला को बंदूक के साथ हिरासत में ले लिया। बच्चों के टायलेट करने जैसी मामूली बात पर कत्ल की इस घटना से इलाके के लोग सन्न हैं।

पुलिस का कहना है कि चाचा-भतीजों में पहले भी झड़प हो चुकी थी लेकिन उनके बीच ऐसी कोई घटना हो सकती है, इसका किसी को अंदेशा नहीं था। इस घटना से पीड़ित परिवार में कोहराम मचा है।

पुलिस की तैनाती के बीच महिलाओं का विलाप गूंजता रहा। दोनों घायल भाइयों को उठाकर अस्पताल ले जाया गया जहां डाक्टरों ने बताया कि विष्णु कांत की मौत हो चुकी है।

छोटा भाई वैभव की हालत नाजुक बनी हुई है हालांकि पुलिस मामले को नियंत्रण करने में गांव में बड़ी संख्या में तैनात की गई है

जनपद के यमुनापार में सोमवार सुबह करछना इलाके के सेमरी गांव में बच्चों के बीच विवाद में कत्ल की वारदात हो गई।

विवाद घर के रास्ते में टायलेट करने पर हुआ था। टोकने पर झगड़ा हुआ और तैश में आकर एक शख्स ने अपने दो भतीजों को लाइसेंसी बंदूक से गोली मार दी। 34 साल के विष्णु कांत शुक्ला की अस्पताल ले जाते वक्त मौत हो गई.

जबकि गंभीर घायल उसके छोटे भाई का इलाज हो रहा है। खबर पाकर वहां पहुंची पुलिस ने आरोपित नीलकमल को गिरफ्तार कर बंदूक कब्जे में ले ली है।

कहासुनी हुई और बंदूक लाकर झोंक दिया फायरबताया गया कि सेमरी गांव निवासी नीलकमल शुक्ला प्राइवेट एजेंसी के लिए सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता है।

सोमवार सुबह उसके भतीजे वैशव शुक्ला पुत्र दीपक शुक्ला के दो बेटे 10 साल का अंश और नौ साल का प्रिंस घर के बाहर सड़क पर टायलेट कर रहे थे।

Also Read

ट्रक की टक्कर से मारुति वैन के चालक सहित दो की मौत, चार श्रद्धालु गंभीर घायल

इस पर बगल में रहने वाले नीलकमल के घरवालों ने टोका तो दोनों परिवार के बीच कहासुनी हो गई। नीलकमल ने तैश में आकर लाइसेंसी बंदूक से भतीजों विष्णु कांत और वैभव पर फायरिंग कर दी।

दोनों घायल होकर गिरे तो गांव में खलबली मच गई। फायरिंग की आवाज सुनकर आसपास के लोग पहुंच गए। खबर पाकर करछना थाने की पुलिस भी पहुंची।

दोनों घायल भाइयों को उठाकर अस्पताल ले जाया गया जहां डाक्टरों ने बताया कि विष्णु कांत की मौत हो चुकी है। छोटा भाई वैभव भी गंभीर घायल है। उसका इलाज कराया जा रहा है।

करछना इंस्पेक्टर टीका राम वर्मा ने आरोपी नीलकमल शुक्ला को बंदूक के साथ हिरासत में ले लिया। बच्चों के टायलेट करने जैसी मामूली बात पर कत्ल की इस घटना से इलाके के लोग सन्न हैं।

पुलिस का कहना है कि चाचा-भतीजों में पहले भी झड़प हो चुकी थी लेकिन उनके बीच ऐसी कोई घटना हो सकती है, इसका किसी को अंदेशा नहीं था।

इस घटना से पीड़ित परिवार में कोहराम मचा है। पुलिस की तैनाती के बीच महिलाओं का विलाप गूंजता रहा।

Also Read

एयरफोर्स के ग्रुप कमांडर अभिनंदन को मिला वीर चक्र, PAK फाइटर प्लेन मार गिराने के लिए सम्मान

शेयर करने के लिए धन्यवाद्

You may also like...