फतेहपुर BJP नेता की सपा नेता ने की पिटाई, गिरफ्तारी की Demand-

फतेहपुर में BJP नेता की सपा नेता ने की पिटाई, गिरफ्तारी की मांग को लेकर धरने पर बैठे विधायक

फतेहपुर। भाजपा नेता की पिटाई के मामले में संगठन की फूट भी देखने को मिली।

सदर विधायक के धरने पर बैठने की जानकारी प्रदेश के आला नेताओं को तो हो गई लेकिन जिला संगठन में कोई हलचल नजर नहीं आई।

सोशल मीडिया पर इस बात को लेकर टिप्पणियां की गईं।

शायद इसी के बाद वह बुधवार को फैजान रिजवी को लेकर एसपी राजेश कुमार सिंह के पास जिलास्तर के पदाधिकारी पहुंचे और उनकी सुरक्षा की मांग की।

इसके बाद एसपी ने दो सिपाही फैजान की सुरक्षा में लगाए हैं।

इसके अलावा भाजपा जिलाध्यक्ष आशीष मिश्रा ने हाजी रजा के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की।

प्रतिनिधि मंडल में जिला महामंत्री चंद्रप्रकाश श्रीवास्तव, पुष्पराज पटेल, नीरज सिंह, उदय लोधी, जिला उपाध्यक्ष अर्चना त्रिपाठी, अपर्णा सिंह गौतम, जिलामंत्री कुलदीप भदौरिया मौजूद रहे।

वहीं पार्टी में चर्चा रही कि घटना के बाद फैजान का साथ देने वालों में इकलौते सदर विधायक विक्रम सिंह ही थे।

धरने में भाजपा कार्यकर्ता और उनके समर्थक ही मौजूद रहे।जिला संगठन की उपस्थिति नहीं दिखी। सोशल मीडिया पर इस दौरान मामले में संगठन पर तरह-तरह की टिप्पणी की जा रही है।

जिलाध्यक्ष आशीष मिश्र ने बताया कि वह राष्ट्रीय अध्यक्ष के कार्यक्रम में कानपुर में थे।

Also Read

UP: घर में घुसकर प्रेमिका समेत 4 को तलवार से काट डाला

इसलिए वह विधायक के धरने पर नहीं पहुंच सके थे।

उन्होंने अपने स्तर पर पैरवी की थी।दो कद्दावर नेताओं का रजा पर हाथजिले में इन दिनों रजा को दो नेताओं का संरक्षण प्राप्त होने की तेजी से चर्चा हो रही है।

उन दोनों नेताओं का हाथ होने से रजा के हौसले बुलंद रहे हैं। तभी उसने संगठन के नेता को पीटने की हिम्मत की।

फतेहपुर. उत्तर प्रदेश के फ़तेहपुर जिले में भाजपा नेता पर कथित रूप से जानलेवा हमले (BJP Leader Attacked) का मामला सामने आया है.

खबर है कि भाजपा नेता की लात-घूंसों और असलहों के बट से जमकर पिटाई की गई.

यह घटना थाना कोतवाली क्षेत्र के जिला अस्पताल के पास की है.

पीड़ित का आरोप है कि घटना के समय वहां मौजूद पुलिस मूकदर्शक बनी रही.

हमला का आरोप समाजवादी पार्टी के नेता हाजी रज़ा व उनके समर्थकों पर लगा है.

पुलिस ने इस मामले में सपा नेता सहित उनके समर्थकों पर बलवा, हत्या के प्रयास और लूट का मुकदमा दर्ज कर लिया है.

वहीं भाजपा नेता पर हुए हमले का सीसीटीवी फुटेज को देखकर भाजपा के सदर विधायक विक्रम सिंह भड़क गए,

जिसके बाद विधायक विक्रम सिंह अपने समर्थकों के साथ थाने पहुंचकर हमलावरों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़ गए.

जब देर शाम तक गिरफ्तारी नहीं हुई तो पुलिस की कार्रवाई से नाराज भाजपा विधायक समर्थकों के साथ थाना कोतवाली में धरने पर बैठ गए.

सदर विधायक विक्रम सिंह ने कहा, ‘भाजपा राज में भाजपा के ही कार्यकर्ता समाजवादी गुंडों के द्वारा मारे-पीटे जाएं तो मुझे यह कत्तई बर्दास्त नहीं है.

मैंने घटना के तुरंत बाद ही पुलिस अधिकारियों से कार्रवाई और गिरफ्तारी के लिए निवेदन किया, लेकिन पुलिस अफसरों ने तत्काल कोई कार्रवाई नहीं की.

तत्काल कार्रवाई न करने के कारण अब यह समस्या है कि मैं तब तक धरने से नहीं हटूंगा, जब तक हमलावर जेल में सलाखों के पीछे नहीं चला जाता है.

भाजपा विधायक ने दावे से कहा कि जनपद के अंदर अपराध को समाप्त करने का यह व्यक्ति वो सबसे बड़ा किला है,

जिसके ढेर होने पर जनपद के न जाने कितने लोग राहत की सांस लेंगे.

‘कबूल है, कबूल है, कबूल है…यह क्या किया तूने Sameer’, -नवाब मलिक

उन्होंने कहा कि मैं पिछले दो सालों से इस हिस्ट्रीशीटर के खिलाफ़ कार्रवाई के लिए शासन को पत्र लिख रहा हूं,

लेकिन पुलिस अधिकारी मेरे पत्र के जवाब में राजनीतिक द्वेष भावना बताकर रिपोर्ट भेज रहे हैं.

वहीं बीजेपी नेता को धरने से उठाने के लिए रात करीब 12 बजे एसपी राजेश कुमार सिंह के साथ डीएम अपूर्वा दुबे भी कोतवाली पहुंचीं.

अधिकारियों की लाख मिन्नतें और कार्रवाई के आश्वासन के बाद भाजपा विधायक धरने से उठे.

‘रोड पर गला दबाकर जान से मारने की कोशिश की’वहीं पीड़ित भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के क्षेत्रीय मीडिया प्रभारी फैजान रिजवी ने बताया कि सोमवार की दोपहर करीब तीन बजे वह जिला अस्पताल के पास पार्टी कार्यकर्ता इमरान से बातचीत कर रहे थे.

तभी नगर पालिका चेयरमैन प्रतिनिधि व सपा नेता हाजी रजा, सभासद राहत, जुनैद उर्फ जुन्ना, गुलाम, शमशाद समेत 15-20 लोग आए.

बीजेपी का प्रचार-प्रसार किए जाने की खुन्नस में उन्होंने हमला किया और उन्हें दौड़ा-दौड़ाकर पीटा.

पीड़ित के मुताबिक आरोपी हाजी रजा सदर कोतवाली का हिस्ट्रीशीटर है.

उसने सरेआम चाकू से हमला किया है.

रोड पर गला दबाकर जान से मारने की कोशिश की.

जब वह होटल में जान बचाने के लिए घुसे तो होटल से बाहर घसीटकर लाए और जेब से करीब 14 हजार रुपये लूटकर लाइसेंसी और अवैध असलहों की बट से पीटा.

शेयर करने के लिए धन्यवाद्

You may also like...