कृषि कानून पर ओमप्रकाश राजभर का बड़ा बयान

खबर यूपी के बलिया से हैं जहाँ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा तीन कृषि कानून को वापस लिए जाने के फैसले पर सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने देश के किसानों को बधाई और आन्दोल में मृतक सैकड़ो किसानों को नमन करते हुए कहा कि आखिरकार क्रूर सरकार को किसानों के आगे झुकना ही पड़ा।

सैकड़ो किसानों के शहादत के बाद चुनाव में अपनी हार को देखते हुए हार की डर से कृषि कानून वापस लिया। कहा अडानी और अम्बानी को लाभ पहुंचाने का जो बीड़ा उठाया था किसानों के सामने सरकार को झुकना पड़ा।

प्रधानमंत्री से अपील करते हुए कहा कि 72 घण्टो के अंदर सवर्णों को आरक्षण दे सकते है तो 52 प्रतिशत पिछड़ों को भी आरक्षण देने की व्यवस्था बनाये।

यही 52 प्रतिशत सरकार बनाता और बिगाड़ता है देश की जनता को महंगाई से निजात कैसे मिले इसके लिए कानून बनाइये, देश मे हिन्दू-मुस्लिम की राजनीति बन्द करने की अपील किया।

कहा 12 महीने से अपने हक की लड़ाई करने वाले किसानों की जीत हुई है। वही राजनीतिक कटाक्ष करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने तीन काले कृषि कानून बनाये ही थे, जो किसानों के अहित में था।

वही प्रधानमंत्री द्वारा कृषि कानून को आपस लिए जाने पर दुख जताते हुए कहा कि काले कानून प्रधानमंत्री ने बनाया ही था तो इसके वापस लेने पर सरकार की कौन सी बड़ी उपलब्धि है।


ओमप्रकाश राजभर सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष।

शेयर करने के लिए धन्यवाद्

You may also like...