शाहिदा Ne अपने 6 बरस के बेटे आमिल को कुरबान कर दिया क्योंकि आल्ला को प्यारी है कुरबानी!

पाड़ा के संसदीय क्षेत्र पालक्कड़ में गत् रविवार प्रातः लगभग 3 बजे पुलिस सहायता नम्बर 112 से नियंत्रण कक्ष को एक खातून शाहिदा बी की फोन कॉल मिली। उसने पुलिस को बताया कि मैंने अपने 6 बरस के बेटे आमिल को कुरबान कर दिया क्योंकि आल्ला को प्यारी है कुरबानी!

पुलिस दल उसके घर पहुंचा तो खून रंजित शाहिदा गेट पर खड़ी उनका इंतजार कर रही थी। पुलिस घर के अंदर घुसी और बाथरूम में 6 साल के बच्चे को मृत पाया, उसका गला कटा हुआ था। शाहिदा का सौहर सुलेमान और दो अन्य बच्चे कुरबानी से अनजान दूसरे कमरे में सो रहे थे।

देश के कथित सर्वाधिक शिक्षित, God’s own country में यह जघन्य कृत्य करने वाली 30 वर्षीय शाहिदा मदरसे में शिक्षिका और तीन महीने की गर्भवती है। उसका सौहर सुलेमान पहले खाड़ी देश में काम करता था और अब पालक्कड़ में ऑटो-रिक्शा चलाता है।

पुलिस ने शाहिदा के शहीदी जजबे की कोई कदर नहीं की और धारा 302 में केस पंजीकृत कर लिया। दक्षिण पालक्कड़ पुलिस स्टेशन में लिखी FIR के अनुसार मां ने इकबाली बयान दिया कि मैंने आल्ला पर कुरबान करने के लिए अपने बच्चे की हत्या की है। गला काटने में बाधा न पड़े इसलिए पहले बच्चे के दोनों पैर बांध दिए थे।

Also Read

कम उम्र में भी हो सकती हैं झुर्रियां, दही से इस तरह मिलेगा छुटकारा-

पाड़ा के संसदीय क्षेत्र पालक्कड़ में गत् रविवार प्रातः लगभग 3 बजे पुलिस सहायता नम्बर 112 से नियंत्रण कक्ष को एक खातून शाहिदा बी की फोन कॉल मिली। उसने पुलिस को बताया कि मैंने अपने 6 बरस के बेटे आमिल को कुरबान कर दिया क्योंकि आल्ला को प्यारी है कुरबानी!

पुलिस दल उसके घर पहुंचा तो खून रंजित शाहिदा गेट पर खड़ी उनका इंतजार कर रही थी। पुलिस घर के अंदर घुसी और बाथरूम में 6 साल के बच्चे को मृत पाया, उसका गला कटा हुआ था। शाहिदा का सौहर सुलेमान और दो अन्य बच्चे कुरबानी से अनजान दूसरे कमरे में सो रहे थे।

देश के कथित सर्वाधिक शिक्षित, God’s own country में यह जघन्य कृत्य करने वाली 30 वर्षीय शाहिदा मदरसे में शिक्षिका और तीन महीने की गर्भवती है। उसका सौहर सुलेमान पहले खाड़ी देश में काम करता था और अब पालक्कड़ में ऑटो-रिक्शा चलाता है।

पुलिस ने शाहिदा के शहीदी जजबे की कोई कदर नहीं की और धारा 302 में केस पंजीकृत कर लिया। दक्षिण पालक्कड़ पुलिस स्टेशन में लिखी FIR के अनुसार मां ने इकबाली बयान दिया कि मैंने आल्ला पर कुरबान करने के लिए अपने बच्चे की हत्या की है। गला काटने में बाधा न पड़े इसलिए पहले बच्चे के दोनों पैर बांध दिए थे।

Also Read

राहुल बजाज का निधन- कैंसर से लड़ रहे थे; 50 साल तक बजाज ग्रुप के चेयरमैन रहे, 2001 में मिला था पद्म भूषण

शेयर करने के लिए धन्यवाद्

You may also like...