कहीं प्रिजर्वेटिव फूड्स आपको बीमार तो नहीं बना रहे हैं ?

Easy Way To Cut Out Preservatives From Your Diet : खाने की चीजों को लंबे समय तक बचा कर रखने के लिए प्रिजर्वेटिव (Preservative) का इस्‍तेमाल किया जाता है.

यह परंपरा प्राचीन काल से चली आ रही है. इसके लिए पहले के जमाने में नमक, तेल आदि का प्रयोग किया जाता था जो नेचुरल तरीके से इन्‍हें खराब होने से बचाते थे. लेकिन इ‍न दिनों खाने को लंबे समय तक बचाकर रखने के लिए आर्टिफिशियल प्रिजर्वेटिव का प्रयोग किया जा रहा है.

हेल्‍दीट्रिक्‍स वेबसाइट के मुताबिक, दरअसल आर्टिफिशियल प्रिजर्वेटिव  खाने की चीजों का ब्यूटाइलेटेड हाइड्रॉक्सीटोल्यूइन और भोजन की रासायनिक संरचना को बदल देते हैं जिससे सेहत (Health) को काफी नुकसान हो सकता है.

अगर ऐसे फूड्स का अधिक सेवन किया जाए तो अस्थमा, अतिसंवेदनशीलता, एलर्जी, हाइपर ऐक्टिविटी, मानसिक क्षति और वज़न तक को ये बढा सकता है.

ये हो सकता है नुकसान

प्रिजर्वेटिव शरीर में सोडियम और सैचुरेटेड फैट की मात्रा को बढ़ा देता है  जिससे शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ सकता है. यह शरीर में इनफ्लामेशन को बढाता है और हृदय रोगों के जोखिम को बढाता है. यह शरीर में टॉक्सिन की मात्रा को भी बढाता है.

प्रिजर्वेटिव चीजों से इस तरह रहें दूर

1.लेबलिंग देखकर करें खरीददारी  -जब भी कुछ खाने की चीज खरीदें तो उसका लेबलिंग जरूर पढ़ें. हर खाद्य पदार्थ के पैकेजिंग पर सामग्री सूची  दी गई होती है जहां आपको प्रिजर्वेटिव और उनके उद्देश्य की पहचान करने में मदद मिलेगी.

2.हेल्‍दी ऑप्‍शन चुनें -जब भी बाजार से कुछ खरीदें तो प्रोसेस्‍ड फूड के बदलें ताजे फल, साबुत अनाज, सब्जियां, कच्चे सूखे मेवे, बीज, अनफ्लेवर्ड डेयरी आदि खरीदें. डिब्बाबंद खाद्य पदार्थ, फ्रोज़न फूड, मसालों, सॉस, मीठे पेय पदार्थ, चिप्स और ब्रेड आदि खरीदने से बचें.

3.होममेड खाना खाएं – प्रिजर्वेटिव से बचने का सबसे अच्छा उपाय है कि आप बाहर से खरीदने की बजाए घर पर बना खाना खाएं. घर पर ही मसाला बनाएं और ताजा खाना खाने को प्रेफरेंस दें.

शेयर करने के लिए धन्यवाद्

You may also like...