समय से पीएचसी नहीं पहुंचे डॉक्टर, मरीज परेशान

चिकित्सकों की मनमानी जारी है। में यह बड़ी समस्या बन गई है। इसे लेकर जिला स्वास्थ्य विभाग भी चिंतित है। बार-बार चेतावनी दिए जाने के बाद भी ये चिकित्सक सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं।


इधर, मरीज इलाज के लिए इंतजार कर रहे हैं। वे डॉक्टर साहब का इंतजार कर रहे थे लेकिन डॉक्टर नहीं आई।
इलाज कराने के लिए यदि पीएचसी जाना है, तो पहले यह जरूर मालूम कर लें कि चिकित्सक अस्पताल में हैं या नहीं।

दरअसल चिकित्सक व अन्य कर्मचारी समय पर अस्पताल नहीं पहुंचते हैं। वैसे तो ओपीडी प्रारंभ होने का समय सुबह 9 बजे है, लेकिन सोमवार को सुबह 11: बजे तक एक भी चिकित्सक अस्पताल नहीं पहुंच सका थे।

कहने को अस्पताल में 10 चिकित्सकों की तैनाती है, लेकिन 11 बजे तक एक भी चिकित्सक के न पहुंचने से मरीजों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा।


स्वास्थ्य सेवाओं को सुचारु करने व सरकारी अस्पतालों में आने वाले मरीजों को किसी भी प्रकार की मुश्किल न हो, इसके लिए शासन से आए दिन दिशा निर्देश दिए जाते हैं। इसके बाद भी पीएचसी के चिकित्सकों की ओर से लापरवाही की जा रही है।

विलंब से अस्पताल पहुंचना व समय से पहले अस्पताल छोड़ देना उनकी आदत में शुमार हो गया है। नतीजा यह है कि मरीजों को घंटों चिकित्सक का इंतजार करना पड़ता है।

सोमवार को पत्रकार टीम सुबह 11 बजे पीएचसी पहुंची, तो वहां सन्नाटा पसरा हुआ था जब डॉक्टर आनंद जी से बात हुई तो डॉक्टर ने कहा आप मुझे ड्यूटी करना ना सिखाएं।

अस्पताल में कुल 10 चिकित्सकों की तैनाती है, लेकिन सोमवार को सुबह 11 बजे तक एक भी चिकित्सक नहीं पहुंच सका था

शेयर करने के लिए धन्यवाद्

You may also like...